Aakash Mudra In Hindi – आकाश मुद्रा

आकाश मुद्रा क्या है :- मध्यमा अंगुली आकाश तत्व का प्रतीक होती है। जब अग्नि तत्व और आकाश तत्व आपस में मिलते हैं , तो आकाश जैसे विस्तार का आभास होता है। आकाश तत्व की …

Read More

Indra Mudra in Hindi – इन्द्र मुद्रा

इन्द्र मुद्रा क्या है :- हमारा शरीर जिन पांच तत्वों से मिलकर बना है , हमारे हाथ की पांच उंगलिया उन तत्वों का प्रतिनिधत्व करती हैं जैसे – अगूंठा अग्नि का , तर्जनी वायु का …

Read More

Shunya Mudra in Hindi – शून्य मुद्रा

शून्य मुद्रा  क्या है :- शून्य का अर्थ होता है आकाश। हमारी मध्यमा उंगली आकाश से जुडी हुई होती है। ये मुद्रा हमारे शरीर के अन्दर के तत्वों में संतुलन बनाये रखती है। शून्य मुद्रा …

Read More

Apana Mudra in Hindi – अपान मुद्रा

अपान मुद्रा क्या है :- अपान का स्थान स्वास्थ्य और शक्ति केंद्र है। अगर हम यहाँ योग की बात करें तो योग में  इसे मूलाधार चक्र कहा जाता है। यह मुद्रा हृदय को शक्तिशाली बनाती …

Read More

Prithvi Mudra in Hindi – पृथ्वी मुद्रा

पृथ्वी मुद्रा क्या है :- पृथ्वी मुद्रा को अंग्रेजी में Gesture of the Earth कहा जाता है। इसका दूसरा नाम अग्नि शामक मुद्रा है। इसके द्वारा मनुष्य अपने भौतिक अंतरत्व में पृथ्वी तत्व को जाग्रत …

Read More

Hasta Mudra In Hindi – हस्त मुद्रा

हस्त मुद्राएँ क्या आप जानते हैं कि आपके हाथों में एक सहज चिकित्सा शक्ति है जिसका उपयोग सदियों से विभिन्न बीमारियों को उपचार करने के लिए किया गया है ? योग विज्ञान के अनुसार, मानव …

Read More

Prana Mudra in Hindi – प्राण मुद्रा

प्राण मुद्रा क्या है :- प्राण मुद्रा को प्राणशक्ति का केंद्र माना जाता है और इसको करने से प्राणशक्ति बढ़ती है। इस मुद्रा में छोटी अँगुली (कनिष्ठा) और अनामिका (सूर्य अँगुली) दोनों को अँगूठे से …

Read More

Hatha Yoga in Hindi (हठयोग)

हठयोग का अर्थ (Meaning of Hatha Yoga) योग के विविध आयामों में हठयोग का स्थान महत्वपूर्ण है। ऐसा कहा जाता है की हठयोग और तंत्र विद्या का सम्बन्ध अधिक निकट का है, अर्थात् तंत्र विद्या …

Read More

सहस्रार चक्र (Sahasrara Chakra in Hindi)

सहस्रार चक्र (Sahasrara Chakra in Hindi) क्या है :- यह चक्र सूर्य की भांति प्रकाश का विकिरण करता है इसलिए इसे हजार पंखुडिय़ों वाले कमल, ब्रह्म रन्ध्र या लक्ष किरणों का केन्द्र कहा जाता है। …

Read More

आज्ञा चक्र (Ajna Chakra in Hindi)

आज्ञा चक्र (Ajna Chakra in Hindi) क्या है :- आज्ञा चक्र मनुष्य के शरीर का छठा मूल चक्र है। आज्ञा का अर्थ होता है आदेश। आज्ञा चक्र मस्तिष्क के मध्य में, भौंहों के बीच स्थित …

Read More